हम डेटा वैज्ञानिक हैं - अर्थात, हमारा काम यह समझना है कि हम डेटा का विश्लेषण और व्याख्या कैसे करें। जब हम Covid-19 के डेटा का विश्लेषण करते हैं, तो हम बहुत चिंतित होते हैं। समाज के सबसे कमजोर हिस्सों, बुजुर्गों और गरीबों को सबसे अधिक खतरा है, लेकिन बीमारी के प्रसार और प्रभाव को नियंत्रित करने के लिए हम सभी को अपने व्यवहार को बदलने की आवश्यकता है। अपने हाथों को अच्छी तरह से और नियमित रूप से धोएं, समूहों और भीड़ से बचें, कार्यक्रमों को रद्द करें, और अपना चेहरा न छुएं। इस लेख में, हम बताते हैं कि हम क्यों चिंतित हैं, और आपको भी क्यों चिंतित होना चाहिए। आपको जो महत्वपूर्ण जानकारी जानने की आवश्यकता है, उसके एक उत्कृष्ट सारांश के लिए, ईथन एले (एक गैर-लाभकारी संस्था के अध्यक्ष जो महामारियों से जोखिम को कम करने के लिए प्रौद्योगिकियों का विकास करते है) द्वारा लिखित Corona in Brief पढ़ें।

हमें एक सुचारू चिकित्सा प्रणाली की आवश्यकता है

अभी 2 वर्ष पहले हममें से एक (रेचल) को मस्तिष्क में संक्रमण हुआ था, जिसके एक चौथाई मरीज़ो की मृत्यु हो जाती है, और एक तिहाई मरीज़ो को स्थायी संज्ञानात्मक क्षति पहुँचती है। कई अन्य लोगों की दृष्टि और श्रवण-शक्ति स्थायी रूप से नष्ट हो जाती है। अस्पताल की पार्किंग में पहुँचने तक ही रेचल बेसुध सी हो जाती। रेचल भाग्यशाली रही की उसे तुरंत देखभाल, निदान और उपचार प्राप्त हुआ। इस घटना से कुछ समय पहले तक रेचल काफी स्वस्थ थी। आपातकालीन कक्ष तुरंत मिल पाने के कारण ही शायद उसकी जान बच पायी।

अब ज़रा Covid-19 के बारे में बात करते हैं, और आने वाले हफ्तों और महीनों में रेचल जैसी स्थिति में लोगों के साथ क्या हो सकता है। Covid-19 से संक्रमित पाए जाने वाले लोगों की संख्या हर 3 से 6 दिनों में दोगुनी हो जाती है। तीन दिनों में दोगुनी दर, इसका अर्थ यह है कि संक्रमित पाए जाने वाले लोगों की संख्या तीन सप्ताह में 100 गुना तक बढ़ सकती है (यह वास्तव में इतना सरल नहीं है, लेकिन तकनीकी विवरणों से भटकने से बचते हैं)। 10 संक्रमित लोगों में से एक को कई हफ्तों तक अस्पताल में भर्ती रहने की आवश्यकता होती है, और इनमें से अधिकांश को ऑक्सीजन की भी आवश्यकता होती है। हालांकि इस वायरस के अभी बहुत शुरुआती दिन हैं, अभी से ही ऐसे क्षेत्र हैं जहां अस्पताल पूरी तरह से खत्म हो चुके हैं, और लोग अब उस उपचार को प्राप्त करने में सक्षम नहीं हैं जिनकी उन्हें आवश्यकता है (न केवल Covid-19 के लिए, बल्कि किसी और चीज के लिए भी, जैसे कि रेचल की जरूरत की जीवन रक्षक देखभाल)। उदाहरण के लिए, इटली में, जहां सिर्फ एक हफ्ते पहले अधिकारी कह रहे थे कि सब कुछ ठीक है, अब सोलह मिलियन लोगों को लॉक-डाउन पर रखा गया है (अपडेट: इसे पोस्ट करने के 6 घंटे बाद, इटली ने पूरे देश को लॉक-डाउन में डाल दिया), और इस तरह के तम्बू मरीजों की आमद को संभालने में मदद के लिए लगाए जा रहे हैं:

डॉ एंटोनियो पेसेन्ती, इटली के एक अत्यंत-प्रभावित क्षेत्र में क्षेत्रीय संकट पजवाबी कार्यवाही इकाई के प्रमुख ने कहा है, "अब हम कॉरिडोर में गहन देखभाल उपचार स्थापित करने के लिए मजबूर हो रहे हैं, ऑपरेटिंग थिएटरों में, रिकवरी रूम में ... दुनिया की एक सबसे अच्छी स्वास्थ्य प्रणाली, लोम्बार्डी में पतन से एक कदम दूर है।”

यह फ्लू जैसा नहीं है

फ्लू से संक्रमित लोगों की मृत्यु दर लगभग 0.1% है। हार्वर्ड में सेंटर फॉर कम्युनिकेबल डिजीज डायनेमिक्स के निदेशक मार्क लिप्सिच का अनुमान है कि Covid-19 के लिए यह दर 1-2% है। नवीनतम महामारी विज्ञान प्रतिरूपण ने फरवरी में चीन में इस दर को 1.6% पाया, जो कि फ्लू की तुलना में सोलह गुना अधिक है (हालांकि यह काफी अनुदार संख्या हो सकती है, क्योंकि जब चिकिस्ता प्रणाली हालात का सामना नहीं कर पाती तब यह दर तेज़ी से बढ़ती है)। वर्तमान के सबसे अच्छे अनुमानों की उम्मीद है कि Covid-19 इस साल फ्लू की तुलना में इस साल 10 गुना अधिक लोगों की मृत्यु का कारण बनेगा (और एयरबीएनबी में डेटा विज्ञान के पूर्व निदेशक, एलेना ग्रेवाल का प्रतिरूपण दर्शाता है कि यह सबसे खराब स्थिति में 100 गुना अधिक हो सकता है)। यह चिकित्सा प्रणाली पर भारी प्रभाव को नज़रअंदांज़ करते हुए है, जैसे कि ऊपर वर्णित है। ज़ाहिर है कि कुछ लोग खुद को समझाने की कोशिश कर रहे हैं कि यह कोई नई बात नहीं है, फ्लू जैसी बीमारी है, क्योंकि वास्तविकता को स्वीकार करना अत्यंत कठिन है और ये हालात काफी असामान्य हैं।

हमारे मस्तिष्क की संरचना इस तरह की नहीं है कि हम घातांकीय रूप से बढ़ने वाली इस संक्रमित लोगों की संख्या को सहज रूप से समझ सकें। इसलिए हमें वैज्ञानिकों के रूप में इसका विश्लेषण करना होगा, न कि अपने सहज-ज्ञान का उपयोग करना होगा।

प्रत्येक व्यक्ति जिसे फ्लू है, औसतन, वह 1.3 अन्य लोगों को संक्रमित करता है। जिसे फ्लू के लिए "R0" कहा जाता है। यदि R0 1.0 से कम है, तो संक्रमण फैलना बंद हो जाता है और मर जाता है। यदि यह 1.0 से अधिक है, तो यह फैलता है। वर्तमान में चीन के बाहर Covid-19 के लिए R0 2-3 है। अंतर सुनने में छोटा लग सकता है, लेकिन संक्रमित लोगों की 20 "पीढ़ियां" जब संक्रमण आगे बढ़ाती हैं, 1.3 के R0 का परिणाम 146 संक्रमण होगा, लेकिन 2.5 के R0 का परिणाम होगा 3.6 करोड़! (यह निश्चित रूप से अधूरा है और कई वास्तविक दुनिया के प्रभावों को नजरअंदाज करता है, लेकिन यह Covid-19 और फ़्लू के बीच सापेक्ष अंतर का एक उचित चित्रण है, अन्य सभी तथ्यों को समान मानते हुए)।

ध्यान दें कि R0 किसी बीमारी का एक मौलिक लक्षण नहीं है। यह जवाबी कार्यवाही पर बहुत निर्भर करता है, और यह समय अनुसार बदल सकता है। अतिविशेष रूप से, चीन में Covid-19 के लिए R0 में काफी कमी आई है, और अब यह 1.0 आ रहा है! आप पूछेंगे, कैसे? ऐसे बड़े पैमानों पर कदम उठाना जिनकी अमेरिका जैसे देश में कल्पना करना भी मुश्किल है- उदाहरण के लिए, कई विशाल शहरों को पूरी तरह से बंद कर देना, और एक परीक्षण प्रक्रिया विकसित करना जो एक सप्ताह में दस लाख से अधिक लोगों का परीक्षण मुमकिन बनाता है।

एक चीज जो सोशल मीडिया पर बहुत अधिक उभरती है (एलोन मस्क जैसे अत्यधिक फ़ॉलो किए गए खातों से भी) कि लोगों में लॉजिस्टिक और घातीय वृद्धि के बीच अंतर की गलतफहमी है। "लॉजिस्टिक" वृद्धि महामारी के "s-आकार" विकास के स्वरुप को संदर्भित करता है। यकीनन घातीय वृद्धि हमेशा के लिए नहीं हो सकती, क्योंकि अन्यथा दुनिया में लोगों की संख्या से अधिक संख्या संक्रमित लोगों की हो जाएगी! इसलिए, अंत में, संक्रमण दर हमेशा कम होनी चाहिए, जिसके परिणामस्वरूप समय के साथ एक s-आकार (जो सिग्मॉइड के रूप में जाना जाता है) की वृद्धि दर बनती है। हालाँकि, घटती वृद्धि दर केवल एक कारण से होती है-यह कोई जादू नहीं है। मुख्य कारण हैं:

  • बड़े पैमाने पर और प्रभावी सामुदायिक जवाबी कार्यवाही, या
  • इतने बड़े प्रतिशत में लोग संक्रमित हैं कि फैलने के लिए कम असंक्रमित लोग बचे हैं।

इसलिए, महामारी के "नियंत्रण" के लिए लॉजिस्टिक वृद्धि के स्वरुप पर निर्भर होने में कोई तार्किक समझदारी नहीं है।

एक और बात जो आपके स्थानीय समुदाय में Covid-19 के प्रभाव को सहज रूप से समझना कठिन बना देती है, वह यह है कि संक्रमण और अस्पताल में भर्ती होने के बीच बहुत महत्वपूर्ण देरी होती है - आम तौर पर लगभग 11 दिन। यह शायद एक लम्बा समय न प्रतीत हो, लेकिन जब आप इसकी तुलना तब तक संक्रमित लोगों की संख्या से करते हैं, तो इसका मतलब है कि जब तक आप ध्यान देंगे कि अस्पताल में बिस्तर भर चुके हैं, तब तक सामुदायिक संक्रमण इस स्तर पर पहुंच जायेगा कि निपटने के लिए 5-10 गुना अधिक लोग होंगे।

ध्यान दें कि कुछ शुरुआती संकेत ऐसे भी हैं कि आपके स्थानीय क्षेत्र में प्रभाव कम से कम कुछ हद तक जलवायु पर निर्भर हो सकता है। Covid-19 के संभावित प्रसार और मौसम-तत्व के पूर्वानुमान के लिए तापमान और अक्षांश विश्लेषण बताता है कि यह बीमारी अब तक सुहावने जलवायु में फैल रही है (दुर्भाग्य से हमारे लिए, सैन फ्रांसिस्को में तापमान सीमा, जहां हम रहते हैं, उस सीमा के लिए सही है; यह लंदन सहित यूरोप के मुख्य जनसंख्या केंद्रों को भी शामिल करता है।)

“घबराएँ नहीं। शान्ति बनाये रखें।" यह मददगार नहीं है

एक आम प्रतिक्रिया जो हमने सोशल मीडिया पर उन लोगों के लिए देखी है जो चिंतित होने के कारणों की ओर इशारा कर रहे हैं, "घबराओ मत" या "शांत रहो"। कम से कम कहने में तो यह मददगार नहीं है। कोई यह नहीं कह रहा है कि आतंकित होना एक उपयुक्त प्रतिक्रिया है। किसी कारणवष, हालांकि, "शांत रहें" कुछ मंडलियों में बहुत लोकप्रिय प्रतिक्रिया है (लेकिन महामारी विज्ञानियों के बीच नहीं, जिनका काम इन चीजों पर नज़र रखना करना है)। शायद "शांत रहें" कुछ लोगों को अपनी निष्क्रियता के बारे में बेहतर महसूस करने में मदद करता है, या उन्हें ऐसे लोगों से बेहतर महसूस कराता है जिनकी वे कल्पना करते हैं कि वे बिना सिर की मुर्गी की तरह इधर-उधर भाग रहे हैं।

लेकिन "शांत रहें" काफी आसानी से आपकी तैयारी और जवाबी कार्यवाही की विफलता का कारण बन सकता है। चीन में, दसियों लाख को लॉक-डाउन पर रखा गया था और दो नए अस्पतालों का निर्माण उस समय तक कर लिया गया था जब उनकी स्तिथि वैसी थी जैसी अमेरिका की अब है। इटली ने बहुत लंबा इंतजार किया, और आज (रविवार 8 मार्च को) उन्होंने 1692 लोगों को बंद करने के बावजूद 1492 नए मामले और 133 नई मौतें दर्ज कीं। इस समय सबसे अच्छी जानकारी के आधार पर हम यह पता लगा सकते हैं कि 2-3 सप्ताह पहले इटली भी उसी स्थिति में था,जो अमेरिका और ब्रिटेन में आज (संक्रमण के आंकड़ों के संदर्भ में) है।

ध्यान दें कि इस समय पर Covid-19 के बारे में लगभग सब कुछ हवा में है। हम वास्तव में इसकी संक्रमण की गति या मृत्यु दर नहीं जानते हैं, हम यह नहीं जानते हैं कि यह सतहों पर कितनी देर तक सक्रिय रहता है, हम नहीं जानते कि यह गर्म परिस्थितियों में जीवित रह सकता है, फैल सकता है या नहीं। हमारे पास जो कुछ भी है वो इस समय तक लोगों द्वारा जुटाई गयी जानकारियों के आधार पर हमारे सर्वोत्तम अनुमान हैं। और याद रखें, इस जानकारी का अधिकांश हिस्सा चीन में, चीनी में है। वर्तमान में, चीन के अनुभव को समझने का सबसे अच्छा तरीका है कि चीन, जर्मनी, जापान, कोरिया, नाइजीरिया, रूस, सिंगापुर, अमेरिका और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के 25 राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञों के संयुक्त मिशन के आधार पर, WHO-चीन संयुक्त मिशन की उत्कृष्ट रिपोर्ट को कोरोनावायरस रोग 2019 पर पढ़ें।

जब यह अनिश्चित है कि, यह वैश्विक महामारी बनेगा या नहीं, और शायद सब कुछ बस ठीक से गुज़र जाये बिना अस्पताल तंत्र के ढहे हुए, तब इसका अर्थ ये बिलकुल नहीं है कि कुछ न करना ही उचित जवाबी कार्यवाही है। यह जूए के समान होगा और किसी भी खतरे के प्रतिरूप के परिदृश्य में यह हमारी ईष्टतम प्रतिक्रिया नहीं होगी। यह भी काफी असंभव सा है कि इटली और चीन जैसे देश बिना किसी अच्छे कारण के अपनी अर्थव्यवस्था के बड़े हिस्से को प्रभावी ढंग से बंद कर देंगे। यह उन वास्तविक प्रभावों के साथ भी तर्कसंगत नहीं है जो हम संक्रमित क्षेत्रों में जमीन पर देख रहे हैं, जहां चिकित्सा प्रणाली सामना करने में असमर्थ है (उदाहरण के लिए, इटली "प्री-ट्राइएज" के लिए 462 टेंट का उपयोग कर रहा है, और अभी भी आईसीयू रोगियों को स्थानांतरित करना है संक्रमित क्षेत्रों से)।

इसके बजाय, विचारशील, उचित प्रतिक्रिया उन चरणों का पालन करना है जो विशेषज्ञों द्वारा संक्रमण फैलाने से बचने के लिए अनुशंसित हैं:

  • बड़े समूहों और भीड़ से बचें
  • कार्यक्रमों को रद्द करें
  • यदि संभव हो तो घर से काम करें
  • घर से आते और जाते समय और बाहर आने पर बार-बार हाथ धोएं
  • अपने चेहरे को छूने से बचें, खासकर जब आपके घर के बाहर (आसान नहीं!)
  • सतहों और सामान को कीटाणु रहित करें (यह संभव है कि वायरस सतहों पर 9 दिनों तक सक्रिय रह सकता है, हालांकि यह अभी भी निश्चित रूप से ज्ञात नहीं है)।

यह केवल आपके बारे में नहीं है

यदि आप 50 वर्ष से कम उम्र के हैं, और जोखिम कारक नहीं हैं, जैसे कि कमज़ोर प्रतिरक्षा प्रणाली, हृदय रोग, धूम्रपान का इतिहास, या अन्य पुरानी बीमारियां, तो आपको कुछ आराम हो सकता है कि Covid-19 की आपको मारने की संभावना बहुत कम है। लेकिन इसके प्रति आपकी प्रतिकिरिया अभी भी बहुत मायने रखती है। आपके पास अभी भी संक्रमित होने की अधिक संभावना है, और यदि होते हैं, तो बस दूसरों को संक्रमित करने की भी उतनी ही सम्भावना है। औसतन, प्रत्येक संक्रमित व्यक्ति दो से अधिक लोगों को संक्रमित कर रहा है, और वे लक्षण दिखाने से पहले संक्रामक हो जाते हैं। यदि आपके पास ऐसे माता-पिता हैं जिनकी आप परवाह करते हैं, या दादा-दादी, और उनके साथ समय बिताने की योजना बनाते हैं, और बाद में पता चलता है कि आप उन्हें Covid-19 के साथ संक्रमित करने के लिए जिम्मेदार हैं, तो आपको इस बोझ के साथ जीना पड़ेगा।

यहां तक कि अगर आप 50 से अधिक की उम्र के लोगों के संपर्क में नहीं हैं, तो यह संभावना है कि आपके पास ऐसे सहकर्मी और परिचित हैं जिनकी गंभीर बीमारियों का आपको अनुमान भी नहीं है। अनुसंधान से पता चलता है कि कुछ लोग कार्यस्थल में अपने स्वास्थ्य की स्थिति का खुलासा करने से बचते हैं, यदि वो बच सकते हैं, क्योंकि उन्हें भेदभाव का डर होता है। हम दोनों ही उच्च जोखिम की श्रेणियों में हैं, लेकिन कई लोग जिनसे हम नियमित रूप से बातचीत करते हैं, वे शायद यह नहीं जानते होंगे।

और हाँ, यह केवल आपके आस पास के लोगो की बात नहीं है। यह एक अत्यधिक महत्वपूर्ण नैतिक मुद्दा है। प्रत्येक व्यक्ति जो वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में योगदान करने की पूरी कोशिश करता है, वह संक्रमण की दर को धीमा करने में अपने पूरे समुदाय की मदद कर रहा है। जैसा कि ज़ीनेप तुफैकी ने साइंटिफिक अमेरिकन में लिखा है: "इस वायरस के लगभग अवश्यंभावी वैश्विक प्रसार के लिए तैयारी ... समाज के लिए सबसे अधिक परोपकारी चीजों में से एक है जो आप कर सकते हैं"। वह लिखती हैं:

हमें तैयार होना चाहिए, इसलिए नहीं कि हम व्यक्तिगत रूप से जोखिम महसूस कर सकते हैं, बल्कि इसलिए ताकि हम सभी के लिए जोखिम कम करने में मदद कर सकें। हमें तैयार नहीं होना चाहिए क्योंकि हम अपने नियंत्रण से बाहर एक कयामत के दिन का सामना कर रहे हैं, लेकिन क्योंकि हम इस जोखिम के हर पहलू को बदल सकते हैं जो हम एक समाज के रूप में सामना करते हैं। यह सही है, आपको तैयार रहना चाहिए क्योंकि आपके पड़ोसियों को आपको तैयार करने की आवश्यकता है - विशेष रूप से आपके बुजुर्ग पड़ोसी, आपके पड़ोसी जो अस्पतालों में काम करते हैं, आपके पड़ोसी पुरानी बीमारियों के साथ, और आपके पड़ोसी जिनके पास साधन या समय नहीं हैं तैयारी का जिसका कारण संसाधनों की कमी हो या समय की।

इसने हमें व्यक्तिगत रूप से प्रभावित किया है। हमारा सबसे बड़ा और सबसे महत्वपूर्ण कोर्स फ़ास्ट.एआई, जो हमारे लिए वर्षों के काम की परिणति का प्रतिनिधित्व करता है, एक सप्ताह में सैन फ्रांसिस्को विश्वविद्यालय में शुरू होने वाला था। पिछले बुधवार (4 मार्च) को, हमने पूरी बात ऑनलाइन स्थानांतरित करने का निर्णय लिया। हम ऑनलाइन स्थानांतरित करने वाले पहले बड़े पाठ्यक्रमों में से एक थे। हमने ऐसा क्यों किया? क्योंकि हमें पिछले हफ्ते की शुरुआत में एहसास हुआ कि अगर हम इस कोर्स को चलाते हैं, तो हम अनुमानित रूप से सैकड़ों लोगों को एक संलग्न स्थान पर एक साथ आने के लिए प्रोत्साहित कर रहे थे, कई बार एक बहु-सप्ताह की अवधि में। संलग्न स्थानों में समूहों को एक साथ लाना सबसे खराब काम है जो इस समय किया जा सकता है। हमने यह सुनिश्चित करने के लिए नैतिक रूप से बाध्य महसूस किया कि कम से कम इस मामले में, यह नहीं हुआ। यह दिल तोड़ने वाला फैसला था। हमारे छात्रों के साथ सीधे काम करने में हमारा समय हर साल महान सुखों और सबसे अधिक उत्पादक अवधियों में से एक रहा है। और हमारे पास छात्रों को दुनिया भर से उड़ान भरने की योजना थी, जिन्हें हम वास्तव में निराश नहीं करना चाहते थे।

लेकिन हमें पता था कि यह करना सही है, क्योंकि अन्यथा हम अपने समुदाय में बीमारी के प्रसार को बढ़ा सकते हैं।

हमें वक्र को समतल करने की आवश्यकता है

यह अत्यंत महत्वपूर्ण है, क्योंकि अगर हम किसी समुदाय में संक्रमण की दर को धीमा कर सकते हैं, तो हम उस समुदाय के अस्पतालों को दोनों, संक्रमित रोगियों से निपटने में, और नियमित रोगी भार में साथ देते हैं जिसे उन्हें संभालने की आवश्यकता है। इसे "वक्र को समतल करना" के रूप में वर्णित किया गया है, और इस चित्रमय मानचित्र में स्पष्ट रूप से दिखाया गया है:

हेल्थ आईटी के पूर्व नेशनल कोऑर्डिनेटर फ़रज़ाद मोस्तश्री ने स्पष्ट किया: “हर दिन नए मामलों की पहचान की जा रही है, जिनका यात्रा इतिहास या किसी ज्ञात मामले से कोई संबंध नहीं है, और हम जानते हैं कि ये सिर्फ बड़ी समस्या की एक छोटी सी झलक है जिसका कारण है परिक्षण में हो रही देरी। इसका मतलब है कि अगले दो हफ्तों में निदान किए गए मामलों की संख्या में विस्फोट होगा ... जब समुदाय में घातांकीय रूप से फैलाव हो रहा हो तब उसकी रोकथाम की कोशिश करना इस प्रकार है जैसे जलते हुए घर में चिंगारियों पर ध्यान लगाना। जब ऐसा होता है, तो हमें शमन करने के लिए रणनीतियों को बदलने की आवश्यकता होती है - स्वास्थ्य देखभाल पर चरम प्रभाव को कम करना और कम करने के लिए सुरक्षात्मक उपाय करना।" यदि हम बीमारी के फैलाव को कम रख सकते हैं कि हमारे अस्पताल भार को संभाल सकें, तो लोग उपचार तक पहुंच सकते हैं। लेकिन अगर मामले बहुत जल्दी आते हैं, तो ज़रूरतमंदो को अस्पताल में भर्ती होने नहीं मिलेगा।

लिज़ स्पैट के अनुसार यहां गणित कुछ ऐसा दिख सकता है:

अमेरिका में प्रति 1000 लोगों पर लगभग 2.8 अस्पताल बेड हैं। 330M की आबादी के साथ, यह ~ 1M बेड है। किसी भी समय, उन बिस्तरों में से 65% पर पहले से ही कब्जा होता है। यह देश भर में उपलब्ध 330k बिस्तरों को छोड़ता है (शायद नियमित फ्लू के मौसम के कारण ये आँकड़ा इस समय थोड़ा कम होगा)। आइए इटली की संख्या पर निर्भर हो कर मान लें कि लगभग 10% मामले अस्पताल में भर्ती होने के लिए गंभीर हैं। (ध्यान रखें कि कई रोगियों को अस्पताल में हफ्तों तक रहना पड़ता है - दूसरे शब्दों में, यह प्रक्रिया बहुत धीमी होगी क्योंकि बिस्तर COVID19 रोगियों से भर जायेंगे)। इस अनुमान के अनुसार, 8 मई तक, अमेरिका में सभी खुले अस्पताल बेड भर जाएंगे। (ये यह बिलकुल नहीं बताता है कि यह बिस्तर अत्यधिक संक्रामक रोगो के अलगाव के लिए उपयुक्त होंगे या नहीं।) अगर हम गंभीर मामलों के अंश के बारे में दो घटक से ग़लत हैं, तो यह अस्पताल में बिस्तरों के ख़त्म होने की समयरेखा को मात्र 6 दिन से बदलता है जो किसी भी दिशा में हो सकता है। यदि 20% मामलों में अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता होती है, तो बिस्तरों की ख़त्म होने की तारीख होगी ~ 2 मई, यदि केवल 5% मामलों में ही इसकी आवश्यकता होती है, तो हम इसे ~ 14 मई तक चला पाएंगे। 2.5% हमें 20 मई तक ले जायेगा। यह गणना बिलकुल ये मान के की गयी है कि गैर-Covid19 मामलो से बिस्तरों की मांग में कोई उतार चढ़ाव नहीं होगा, जो कि काफी संशयात्मक प्रतीत होता है। जैसे-जैसे स्वास्थ्य सेवा प्रणाली तेजी से बोझिल होती जा रही है, Rx की कमी इत्यादि बढ़ती जा रही है, गंभीर रोगों से जूझते लोगों की चिकित्सा जो सामान्य रूप से अच्छी तरह से प्रबंधित होती हैं, वह चिकित्सा संकट की स्तिथि में बदल सकती है जिसमें ऐसे लोगों को गहन देखभाल और अस्पताल भर्ती की ज़रूरत होगी।

समाज की जवाबी कार्यवाही से ही सारा अंतर पड़ता है

जैसा कि हमने चर्चा की है, यह गणित निश्चित नहीं है - चीन पहले ही दिखा चुका है कि ठोस कदम उठाकर प्रसार को कम करना संभव है। एक सफल जवाबी कार्यवाही का एक और शानदार उदाहरण वियतनाम है, जहां अन्य बातों के अलावा, एक राष्ट्रव्यापी विज्ञापन अभियान (एक आकर्षक गीत सहित) ने तेजी से समाज को उचित जवाबी कार्यवाही के लिए एकजुट किया और यह सुनिश्चित किया कि लोग अपने व्यवहार को उचित रूप से समायोजित करें।

यह केवल एक काल्पनिक स्थिति नहीं है - यह 1918 फ्लू महामारी में स्पष्ट रूप से प्रदर्शित किया गया था। अमेरिका में दो शहरों ने महामारी के लिए बहुत अलग जवाबी कार्यवाही प्रदर्शित कीं:फिलाडेल्फिया में 200,000 लोगों की विशाल परेड का आयोजन किया गया ताकि युद्ध के लिए पैसे जुटा सकें। लेकिन सेंट लुइस ने बड़े संपर्कों को रद्द करने के साथ-साथ वायरस के प्रसार को कम करने के लिए सामाजिक संपर्कों को कम करने के लिए सावधानीपूर्वक तैयार की। यहाँ प्रत्येक शहर में मौतों की संख्या कितनी है, यह नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज की कार्यवाही में दिखाया गया है:

फिलाडेल्फिया में स्थिति बेहद गंभीर हो गई, यहां तक कि एक समय पर ऐसे स्थान भी थे जहां फ्लू से मृतकों की भारी संख्या को संभालने के लिए पर्याप्त ताबूत या मुर्दाघर नहीं थे।

रिचर्ड बेस्सर, जो कि रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्रों के कार्यवाहक निदेशक थे 2019 H1N1 महामारी के समय, ने कहा है कि अमेरिका में "रोग के जोखिम से बचने की और अपने परिवार को बचाने की क्षमता निर्भर करती है, आय पर, स्वस्थ्य देखभाल तक पहुँच पर, और आव्रजन स्तिथि पर, और भी अन्य कारणों के साथ", वे बताते हैं:

बुजुर्गों और विकलांगों को विशेष जोखिम होता है जब उनके दैनिक जीवन और समर्थन प्रणाली बाधित होती है। ग्रामीण और मूल निवासी समुदायों सहित स्वास्थ्य देखभाल की आसान पहुंच के बिना, जरूरत के समय कठिन दूरी का सामना करना पड़ सकता है। पास के क्वार्टर में रहने वाले लोग - चाहे सार्वजनिक आवास, नर्सिंग होम, जेल, आश्रय या यहां तक कि सड़कों पर बेघर - लहरों में पीड़ित हो सकते हैं, जैसा कि हम पहले ही वाशिंगटन राज्य में देख चुके हैं। और कम वेतन वाले गिग इकॉनमी की कमजोरियां, गैर-वेतनभोगी श्रमिकों और अनिश्चित काम की सारणी, इस संकट के दौरान सभी के सामने उजागर हो जाएगी। 60 प्रतिशत अमेरिकी श्रम शक्ति से पूछें जो प्रति घंटा वेतन उन्हें मिलता है उससे ज़रूरत के समय छुट्टी लेना कितना आसान है।

यूएस ब्यूरो ऑफ लेबर स्टैटिस्टिक्स से पता चलता है कि सबसे कम आय वाले बैंड में एक तिहाई से भी कम लोगों को भुगतान के साथ बीमारी के लिए अवकाश मिलता है:

अमेरिका में हमारे पास पर्याप्त जानकारी नहीं है

यूएस में एक बड़ा मुद्दा यह है कि बहुत कम परीक्षण किया जा रहा है, और परीक्षण के परिणाम ठीक से साझा नहीं किए जा रहे हैं, जिसका अर्थ है कि हम नहीं जानते कि वास्तव में क्या हो रहा है। पिछले FDA कमिश्नर स्कॉट गोटलिब ने बताया कि सिएटल में बेहतर परीक्षण किया गया है, और हम वहाँ संक्रमण देख रहे हैं: “स्वतंत्र वैज्ञानिको के प्रहरी निगरानी कार्य के कारण हम सीएटल में के प्रकोप के बारे में जल्दी जान पाए हैं। अन्य शहरों में ऐसी निगरानी पूरी तरह से कभी नहीं हुई। अन्य अमेरिकी अतिप्रभावित क्षेत्रों का अभी तक पूरी तरह से पता नहीं लगाया जा सकता है। द अटलांटिक के अनुसार, उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने वादा किया कि इस सप्ताह "लगभग 1.5 मिलियन परीक्षण" उपलब्ध होंगे, लेकिन इस समय तक पूरे अमेरिका में 2,000 से कम लोगों का परीक्षण किया गया है। COVID ट्रैकिंग प्रोजेक्ट पर आधारित, द अटलांटिक के रॉबिन्सन मेयर और एलेक्सिस मेड्रिगल, ने कहा:

हमने जो आंकड़े इकट्ठे किए हैं, उनका सुझाव है कि Covid-19 और इससे होने वाली बीमारी, COVID-19, के प्रति अमेरिकी जवाबी कार्यवाही विशेष रूप से अन्य विकसित देशों के साथ तुलनात्मक रूप से सुस्त रही है। सीडीसी ने आठ दिन पहले पुष्टि की थी कि वायरस संयुक्त राज्य में सामुदायिक संचरण में था - यह उन अमेरिकियों को संक्रमित कर रहा था, जो न तो विदेश यात्रा पर थे और न ही उन लोगों के संपर्क में थे। दक्षिण कोरिया में, सामुदायिक प्रसारण के पहले मामले के एक सप्ताह के भीतर 66,650 से अधिक लोगों का परीक्षण किया गया था, और वह जल्दी से एक दिन में 10,000 लोगों का परीक्षण करने में सक्षम हो गया।

समस्या का हिस्सा यह है कि यह एक राजनीतिक मुद्दा बन गया है। विशेष रूप से, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह "संख्या" (जो कि अमेरिका में संक्रमित लोगों की संख्या है) को कम रखना चाहते हैं। यह एक उदाहरण है, जहां अनुकूलन मेट्रिक्स असल में अच्छे परिणाम प्राप्त करने में हस्तक्षेप करता है। (इस मुद्दे पर अधिक जानकारी के लिए, डेटा विज्ञान की नैतिकता पेपर देखें मैट्रिक्स की समस्या एआई के लिए एक मौलिक समस्या है)। Google के AI के प्रमुख जेफ डीन ने ट्वीट कर राजनीतिक विघटन की समस्याओं के बारे में अपनी चिंता व्यक्त की:> जब मैंने WHO में काम किया, तो मैं AIDS (अब UNAIDS) पर वैश्विक कार्यक्रम का हिस्सा था, जो दुनिया को HIV/AIDS महामारी से निपटने में मदद करने के लिए बनाया गया था। वहां के कर्मचारी समर्पित डॉक्टर थे और वैज्ञानिकों ने उस संकट के समाधान में मदद करने के लिए तीव्रता से ध्यान केंद्रित किया। संकट के समय में, स्पष्ट और सटीक जानकारी सभी को उचित और सूचित निर्णय लेने में मदद करने के लिए महत्वपूर्ण है (देश, राज्य और स्थानीय सरकारें, कंपनियां, गैर सरकारी संगठन, स्कूल, परिवार और व्यक्ति)। सर्वोत्तम चिकित्सा और वैज्ञानिक विशेषज्ञों को सुनने के लिए सही जानकारी और नीतियों के साथ, हम सभी HIV/AIDS या Covid-19 द्वारा प्रस्तुत की गई चुनौतियों से पार पाएंगे। राजनीतिक हितों से प्रेरित दुष्प्रचार का वास्तविक जोखिम यह है की हम जल्दी काय्रवाही न कर के हालातों को बद से बत्तर बनाएंगे और यह सुनिश्चि करेंगे के महामारी से झूझते हुए हम ऐसे व्यहवार को बढ़ावा दे बैठे जिससे कि रोग और फैले। ऐसी स्तिथि को बनते हुए देखना बेहद दर्दनाक है।

ऐसा लगता तो नहीं है के पारदर्शिता के सन्दर्भ में हालत को बदलने की राजनीतिक इच्छाशक्ति यहां है। वायर्ड के अनुसार, स्वास्थ्य और मानव सेवा सचिव एलेक्स अजार ने कहा, "उन परीक्षणों के बारे में बात करना शुरू कर दिया जो स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ता यह निर्धारित करने के लिए उपयोग करते हैं कि कोई नए कोरोनोवायरस से संक्रमित है या नहीं। उन किटों की कमी का मतलब अमेरिका में बीमारी के प्रसार और गंभीरता के बारे में महामारी विज्ञान संबंधी जानकारी का एक खतरनाक अभाव है, जो सरकार की ओर से अस्पष्टता से बढ़ा है। अज़ार ने यह कहने की कोशिश की कि अधिक परीक्षण किये जायेंगे पर गुणवत्ता नियंत्रण लंबित है।” लेकिन, उन्होंने जारी रखा:> तब ट्रम्प ने अजार की बात काटते हुए कहा "लेकिन मुझे लगता है, महत्वपूर्ण बात यह है, किसी को भी, अभी और कल, यदि परीक्षण की ज़रूरत पड़ी है तो उसका परीक्षण हुआ है। वह हैं, उनके परीक्षण हुए हैं, और परीक्षण बहुत अच्छे हैं। ट्रम्प ने कहा कि जिसे परीक्षण की ज़रूरत है, उसे परीक्षण मिलेगा। यह असत्य है। उपराष्ट्रपति पेंस ने गुरुवार को संवाददाताओं से कहा कि अमेरिका के पास मांग को पूरा करने के लिए पर्याप्त परीक्षण किट नहीं हैं।

अन्य देश अमेरिका की तुलना में बहुत अधिक तेजी से और महत्वपूर्ण रूप से जवाबी कार्यवाही कर रहे हैं। दक्षिण-पूर्वी एशिया के कई देश ताइवान सहित उत्तम परिणाम दिखा रहे हैं, जहां R0 अभी 0.3 से नीचे है, और सिंगापुर, जिसे द मॉडल फॉर Covid-19 रिस्पांस के रूप में प्रस्तावित किया जा रहा है। यह सिर्फ एशिया में ही नहीं है; उदाहरण के लिए, फ्रांस में, 1000 लोगों से अधिक का इकट्ठा होना मना है, और स्कूल अब तीन जिलों में बंद हैं।

निष्कर्ष

Covid-19 एक महत्वपूर्ण सामाजिक मुद्दा है, और हमें बीमारी के प्रसार को कम करने के लिए काम करना चाहिए। इसका मतलब है की: बड़े समूहों और भीड़ से बचना कार्यक्रमों को रद्द करना

  • घर से काम करना, यदि संभव हो तो
  • घर से आते और जाते समय और बाहर आने पर बार-बार हाथ धोएं
  • अपने चेहरे को छूने से बचें, खासकर जब आपके घर के बाहर

ध्यान दें: इसे छापने की जल्दबाज़ी में, इसमें उपयोग की गयी जानकारियों का हवाला और श्रेय देने में हमने उतनी सावधानी नहीं बरती है जितना हम आम तौर पर बरतते हैं । अगर हमसे कुछ भूल हुई हो तो कृपया हमे बतायें।

प्रतिपुष्टि और टिप्पणियों के लिए सिल्वेन गुग्गर और एलेक्सिस गैलाघर को धन्यवाद।

यह एक महत्वपूर्ण अंग्रेजी लेख का अनुवाद है, असली लेख अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें